कृषि की उन्नति के लिए केंद्र सरकार प्रतिबद्ध- राघा मोहन सिंह

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राघा मोहन सिंह ने कहा है कि केन्द्र सरकार देश के किसानों को विश्व की उन्नत कृषि और 26_5_16_radha_mohan_550x425-बागवानी तकनीक और मशीनों के बारे में लगातार जानकारी मुहैया करा रही है ताकि वे कम से कम आदमी लगाकर ज्यादा से ज्यादा क्षेत्र में उन्नत किस्म के बागवानी फसल उगा सकें। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने ये बात आज नवसारी, गुजरात में दो दिन के अंतर्राज्यीय बागवानी मेला – हार्टी संगम – का उद्घाटन करते हुए कही।श्री सिंह ने इस अवसर पर कहा कि भारत सरकार बागवानी क्षेत्र में सब्सिडी दे रही है जिससे किसान आर्थिक रूप से मजबूत हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के उगाए फल और सब्जियां खराब ना हों और उन्हें बेचकर वे अधिक मुनाफा कमा सकें, इसके लिए देश भर में कोल्ड स्टोरेज खोलने पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश भर में किसानों को बागवानी फसल उगाने के लिए जरूरी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसी उद्देश्य के तहत नवसारी में बागवानी मेले का आयोजन किया गया है।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने वहां मौजूद किसानों से आग्रह किया कि वे मेले में उपस्थित बागवानी विशेषज्ञों से बातचीत करें और उनकी जानकारी और ज्ञान का लाभ उठाकर देश की तरक्की में अपना योगदान दें।श्री सिंह ने कहा कि बागवानी फसलों में किसानों को मुनाफा ज्यादा होता है और इसमें स्वरोजगार के मौके मिलते हैं। उन्होंने कहा कि भारत आम, अनार, लीची, केसर और सूखे मेवे में दुनिया भर में मशहूर है और किसान बागवानी फसल उगाकर विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ाने में अपना योगदान दे रहे हैं।उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार बागवानी से जुड़ी मशीनों का आयात करके किसानों के बीच इनका लगातार प्रदर्शनी करती रहती है ताकि किसान नयी तकनीक और प्रोद्योगिकी में पीछे ना रहें। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए लगातार काम कर रही है और बागवानी इसमें अहम भूमिका निभा सकता है।

नवसारी के इस दो दिन के मेले का आयोजन राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड और नवसारी कृषि विश्वविद्यालय, गुजरात ने मिलकर किया है। मेले में 12 राज्यों के किसान और उद्यमी हिस्सा ले रहे हैं। मेले में 50 स्टॉल लगाए गये हैं जिनमें गुजरात के मशहूर केसर आम सहित अन्य उन्नत किस्म के बागवानी उत्पाद प्रदर्शनी और बिक्री के लिए रखे गये हैं। मेले में बागवानी से जुड़ी नयी तकनीक और प्रोद्योगिकी की भी प्रर्दशनी की जा रही है और किसानों को इनके बारे में बताया जा रहा है। दो दिन के इस मेले में किसान गोष्ठी का भी आयोजन किया जा रहा है।

श्री सिंह ने इस अवसर पर कहा कि किसानों को चाहिए कि वे बागवानी में विश्व की उन्नत तकनीक और प्रोद्यगिकी का इस्तेमाल करें और अंतरराष्ट्रीय स्तर की गुणवत्ता वाली बागवानी फसलें उगाएं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार इसमें किसानों की हर संभव मदद करने को तैयार है। उन्होंने राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड के अधिकारियों के काम की सराहना की और कहा कि नवसारी कृषि विश्वविद्यालय बागवानी में सक्रिय भूमिका निभा रहा है।

स्त्रोत:pib.nic.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name *