कामकाज

‘मंदिर नहीं, अस्पताल’ कहने वालों के लिए ये तथ्य किसी सदमे से कम नहीं होंगे!

भाजपा सरकार ने न सिर्फ भगवान राम के भव्‍य मंदिर का मार्ग प्रशस्‍त किया बल्‍कि स्‍वास्‍थ्‍य एवं रक्षा के क्षेत्र में भी अनूठे कीर्तिमान स्‍थापित कर रही है।

ये आंकड़े बताते हैं कि रफ़्तार पकड़ने लगी हैं आर्थिक गतिविधियाँ

अब धीरे-धीरे संकट के बादल छंट रहे हैं। आर्थिक गतिविधियों में तेजी आ रही है। कई क्षेत्रों में सुधार के संकेत साफ़-साफ़ दिख रहे हैं।

कोरोना से जंग में मजबूती से जीत की ओर बढ़ रहा भारत, सावधानी की है जरूरत

अभी देश कोरोना महामारी से लड़ाई में निर्णायक मोड़ पर पहुँच चुका है, अतः अब विशेष रूप से सावधानी की जरूरत है ताकि शीघ्र ही हमें इसपर जीत हासिल हो।  

आत्मनिर्भर भारत को साकार करने के लिए कई स्तरों पर जुटी है मोदी सरकार

भारतीय अर्थव्यवस्था को आत्मनिर्भर और लोकल से ग्लोबल बनाने के उद्देश्य से सरकार द्वारा बहुत ही तेज़ी से कई प्रकार के आर्थिक निर्णय लिए जा रहे हैं।

स्वामित्व योजना : ग्रामीण विकास की दिशा में महत्वपूर्ण कदम

स्वामित्व योजना’ की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि, ‘यह देश को ‘आत्मनिर्भर बनाने’ की दिशा में बड़ा कदम है.

मोदी सरकार की नीतियों से देश के ऊर्जा क्षेत्र में हो रही क्रांति

भारत ऊर्जा के क्षेत्र में बदलाव की दिशा में काफी मेहनत से काम कर रहा है। सरकार ने बिजली और खाना पकाने के स्वच्छ ईंधन को अपनी शीर्ष प्राथमिकता में रखा हुआ है

कोरोना काल में परेशान कर्जदारों को मोदी सरकार ने दी राहत

मोदी सरकार के ब्याज पर प्रभारित ब्याज की राशि को माफ़ करने और मोरेटोरियम अवधि को बढ़ाने के फैसले से कोरोना महामारी से प्रभावित ऋणियों को तत्काल राहत मिलेगा

मोदी सरकार के प्रयासों से कोरोना संकट के बावजूद पटरी पर लौट रहीं आर्थिक गतिविधियाँ

हर्ष का विषय है कि माह सितम्बर 2020 में देश में आर्थिक गतिविधियों ने वापस रफ़्तार पकड़ ली है। केंद्र सरकार द्वारा आर्थिक क्षेत्र के सम्बंध में सही समय पर लिए गए कई निर्णयों के चलते ही यह सम्भव हो सका है।

अटल सुरंग : विश्व की इस सबसे बड़ी सुरंग का महत्व भी बहुत बड़ा है

बीते रोज दुनिया की सबसे बड़ी ‘अटल सुरंग’ को प्रधानमंत्री मोदी ने देश को समर्पित कर दिया। इसका सपना अटल जी ने देखा था, इसलिए इसको उन्हीका नाम दिया गया है।

किसानों के हितों के प्रति पूर्णतः प्रतिबद्ध है मोदी सरकार

वर्तमान सरकार ने अपने प्रथम कार्यकाल से ही 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने लक्ष्य निर्धारित किया हुआ है और सरकार इस दिशा में लगातार काम भी कर रही है।