इन्वेस्टर समिट

न्यू इंडिया की दिशा में केंद्र के साथ कंधे से कंधा मिलाकर बढ़ रही योगी सरकार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र सरकार की प्रेरणा से विकास के अनेक कीर्तिमान स्थापित किये हैं। स्वच्छता, शौचालय निर्माण, प्रधानमंत्री निर्धन आवास निर्माण आदि के मामले में उत्तर प्रदेश नम्बर वन पर पहुंच गया है। यह उपलब्धि केवल दो वर्षों में ही हासिल हुई है।

इन्वेस्टर समिट में दिखा जीवन के सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक पक्षों का सार्थक समन्वय !

जीवन के आर्थिक या भौतिक पहलुओं का महत्व अपनी जगह है। विकास, निवेश, जीवन यापन को आसान बनाने वाले उपक्रम इसी के अंतर्गत आते हैं। इन पर सकारात्मक कार्य करना सरकार की जिम्मेदारी होती है। इसी आधार पर उसका मूल्यांकन भी होता है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इसके लिए राजधानी लखनऊ में दो दिवसीय इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया। यह एक सफल और ऐतिहासिक आयोजन था। प्रधानमंत्री नरेंद्र

यूपी के अच्छे दिन लाने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी इन्वेस्टर समिट !

कई बार बिना किसी विशेष योजना के भावपूर्ण और सार्थक चित्र उभरते हैं। लखनऊ की इन्वेस्टर्स समिट में यह दृश्य दिखाई दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन्वेस्टर्स समिट की डाक्यूमेंट्री को जारी किया, जिसकी शुरुआत कई छोटे कुम्भों के द्वारा एक बड़े कुंभ के भरने के प्रभावी दृश्य से होती है। इसके कई अर्थ हैं। इन्वेस्टर्स समिट के लिए यह प्रतीक बेहरतीन था। नरेंद्र मोदी ने कहा भी कि योगी सरकार ने माहौल बदला है।

इन्वेस्टर समिट : ‘तुम हमें निवेश दो, हम तुम्हें सुरक्षा देंगे’

उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर समिट का समय करीब आ रहा है। इस बीच सरकार ने निवेशकों को एक अच्छा सन्देश दिया। इसमें कहा गया कि तुम हमें निवेश दो हम तुम्हें सुरक्षा देंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछली सरकार की कमजोरियों से सबक लिया है। खराब कानून व्यवस्था न केवल लोगों को परेशान करती है, उससे निवेशकों का भी मोहभंग होता है। बेहतर कानून व्यवस्था सुशासन की पहली शर्त होती है। पहले एक