स्वयंसेवक

संकट काल में दिखता संघ का विराट रूप

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ केवल भारत नहीं अपितु वैश्विक पटल पर भी विभिन्न विभिन्न कारणों से सर्वदा चर्चा का केंद्र रहता है। अपने 95 साल के इतिहास में एक सामाजिक सांस्कृतिक संगठन होने पर भी  संघ की अधिकतम चर्चा राजनीतिक अथवा सांप्रदायिक कारणों से ही की जाती रही,  निहित स्वार्थों के वशीभूत वामपंथी मीडिया मुगलों के द्वारा एक विशेष चश्मे से देखते हुए एकपक्षीय दुष्प्रचार संघ को लेकर को लेकर किया जाता रहा।

वर्तमान पीढ़ी समेत आने वाली पीढ़ियों के लिए राष्ट्र-सेवा की प्रेरणा के महान स्रोत हैं सोहन सिंह!

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक स्वर्गीय श्री सोहन सिंह जी एक ऐसे दीपक थे…