हिंदी भाषा

हिन्दी दिवस : अपनी शक्ति और सामर्थ्य को हर मोर्चे पर सिद्ध कर रही हिन्दी

हिन्दी अपने आविर्भाव काल से लेकर अब तक निरन्तर जनभाषा रही है। उसका संरक्षण और संवर्द्धन सत्ता ने नहीं, संतों ने किया है। भारतवर्ष में उसका उद्भव और विकास प्रायः उस युग में हुआ जब फारसी और अंग्रेजी सत्ता द्वारा पोषित हो रही थीं। मुगल दरबारों ने फारसी को और अंग्रेजी शासन ने अंग्रेजी को सरकारी काम-काज की भाषा बनाया। परिणामतः दरबारी और सरकारी नौकरियाँ करने वालों ने फारसी और अंग्रेजी का