रमेश कुमार दुबे

राजनीतिक सूर्यास्त की ओर अग्रसर वाम दल

आज देश में वामपंथ का राजनीतिक सूर्यास्त हो रहा है तो इसके लिए उनकी जनविरोधी नीतियां ही जिम्मेदार हैं।

लोगों को खाद्य व पोषण सुरक्षा देना योगी सरकार की वापसी का महत्वपूर्ण कारण है

कह सकते हैं कि योगी सरकार की शानदार वापसी में अन्‍य कारणों के साथ-साथ भ्रष्‍टाचार मुक्‍त राशन वितरण की महत्‍वपूर्ण भूमिका रही है।

देश को लालटेन युग से बाहर निकालने में कामयाब रही मोदी सरकार

बिजली की खपत और आर्थिक विकास में सीधा संबंध पाया जाता है। जिन राज्यों में बिजली की खपत ज्‍यादा है वहां गरीबी आखिरी सांसे गिन रही है।

पूर्वोत्‍तर को रेलवे नेटवर्क से जोड़ने में कामयाब रही मोदी सरकार

पूर्वोत्‍तर भारत को देश की मुख्‍य धारा से जोड़ने के प्रयासों में 27 जनवरी 2022 का दिन मील का पत्‍थर होगा क्‍योंकि इस दिन मणिपुर के कैमाई रोड रेलवे स्‍टेशन तक मालगाड़ी का परिचालन शुरू हुआ।

रक्षा उत्‍पादन में आत्‍मनिर्भरता की ओर बढ़ता भारत

मोदी सरकार देश को रक्षा क्षेत्र में आत्‍मनिर्भर बनाने में जुटी है। इससे न सिर्फ लाखों करोड़ रूपये की विदेशी मुद्रा की बचत होगी बल्‍कि सैन्‍य उपकरणों के बहुत बड़े बाजार में भागीदारी का मौका भी मिलेगा।

टीकाकरण का एक वर्ष : मोदी सरकार की मजबूत संकल्प शक्ति से ही पूरा हुआ असंभव जैसा लक्ष्‍य

देश में 16 जनवरी 2021 को टीकाकरण कार्यक्रम की शुरूआत हुई थी। पिछले एक वर्ष के दौरान टीके की करीब 156.76 करोड़ खुराकें दी गई हैं।

रेलवे के जरिए लॉजिस्टिक्‍स लागत घटाने में जुटी मोदी सरकार

सड़कों पर बढ़ती भीड़, महंगे डीजल, लेट-लतीफी जैसे कारणों से दिग्‍गज कंपनियां रेलवे से ढुलाई को प्राथमिकता देने लगी हैं जो कि रेलवे के लिए शुभ संकेत हैं।

सात वर्षों में मोदी सरकार ने कृषि के लिए जितना काम किया है, उतना पिछले सत्तर वर्षों में भी नहीं हुआ!

मोदी सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत हर साल 11 करोड़ किसानों के बैंक खाते में डेढ़ लाख करोड़ रुपये भेज रही है।  

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में लहरा रहा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का परचम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश में सांस्‍कृतिक राष्‍ट्रवाद रूपी अलख जगाने का ही नतीजा है कि भारतीय राजनीति की दिशा और दशा बदल गई।

योगी सरकार के प्रयासों से उत्तर प्रदेश में औद्योगीकरण का आगाज

योगी सरकार बड़े उद्योगों के साथ-साथ प्रदेश के गांवों व कस्बों में कृषि आधारित उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए काम कर रही है।