रमेश कुमार दुबे

किसान हित नहीं, राजनीतिक उद्देश्यों पर आधारित है किसान आंदोलन

नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद खेती की बदहाली दूर करने के लिए कई योजनाएं लागू की गईं और हर किसान के खाते में सालाना 6000 रूपये भेजे जाने लगे।

निर्यात आधारित अर्थव्‍यवस्‍था बनाने में जुटी मोदी सरकार

अब निर्यात के मोर्चे पर भारत की कमजोरी को दूर करने का बीड़ा मोदी सरकार ने उठाया है। परिस्‍थितियां भी भारतीय उत्‍पादों के अनुकूल बन रही हैं।

खाद्य तेल के मामले में आत्‍मनिर्भरता दिलाएगा राष्‍ट्रीय खाद्य तेल मिशन

राष्‍ट्रीय खाद्य तेल-पाम ऑयल मिशन से एक ओर खाद्य तेलों के आयात पर निर्भरता घटेगी तो दूसरी ओर किसानों की आमदनी बढ़ेगी।

कोरोना संकट के बावजूद तेजी से हर घर में नल से जल पहुंचाने में कामयाब हो रही मोदी सरकार

आजादी के बाद 72 वर्षों में जहां प्रतिदिन 1229 ग्रामीण घरों में नल से जल का कनेक्‍शन दिया गया वहीं मोदी सरकार आज हर रोज दो लाख से अधिक ग्रामीण घरों में नल से जल का कनेक्‍शन दे रही है।

जम्मू-कश्मीर : डिजिटल इंडिया की कामयाबी का नतीजा है ‘दरबार मूव’ पर रोक

दस्‍तावेजों के डिजिटल होने से सबसे ज्‍यादा परेशानी कांग्रेसी सिस्‍टम में पले-बढ़े उन लोगों को हो रही है जिनकी रोजी-रोटी कागजी रिकॉडों के हेर-फेर से चलती थी।

कोरोना महामारी पर काबू पाने में कामयाब होती दिख रही मोदी सरकार

12 जुलाई 2021 को कोरोना महामारी से ठीक होने वालों की कुल संख्‍या 3 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई। यह लगातार 34वां दिन रहा जब भारत में कोरोना वायरस के एक लाख से कम नए मामले सामने आए।

एथनॉल उत्‍पादन बढ़ाने में कामयाब रही मोदी सरकार

मोदी सरकार एथनॉल उत्‍पादन के जरिए ऊर्जा आत्‍मनिर्भरता हासिल करने के साथ-साथ किसानों की आमदनी बढ़ाने, पर्यावरण प्रदूषण कम करने के बहुआयामी उपाय कर रही है।

भाजपा विरोधी अभियान में बदला कथित किसान आंदोलन

किसान आंदोलन अब राजनीतिक विरोध में तब्‍दील हो चुका है। यही कारण है कि आम किसान इस आंदोलन से दूरी बनाने लगे हैं।

कृषि कानूनों की कामयाबी बयां कर रही है गेहूं की रिकॉर्डतोड़ खरीद

पंजाब में 14 मई 2021 को समाप्‍त हुए गेहूं खरीद सत्र में रिकॉर्ड खरीद हुई है। इस रबी खरीद सत्र के दौरान पंजाब में नौ लाख किसानों से 132 लाख टन गेहूं की खरीद की गई।

लगातार पराजय के बाद भी बदलाव को तैयार नहीं कांग्रेस

कई राज्‍यों में कांग्रेस की विपक्ष की हैसियत भी नहीं बची है। हाल ही में संपन्‍न हुए पांच राज्‍यों के चुनाव में दो और राज्‍यों में कांग्रेस का विपक्ष का ओहदा छिन गया।